Deliveries May take longer than usual due to Covid-19 situations and Lockdown imposed in several states.

Shoping Cart

Your cart is empty now.

Shoping Cart

Your cart is empty now.

9789352291748.jpg
Rs. 100.00
SKU: 9789352291748

ISBN: 9789352291748
Language: Hindi
Publisher: Vani Prakashan
No. of Pages: 116
हिन्दोस्तान की दूसरी जुबानों में गजल के लिये जो इज्जत और मोहब्बत पैदा हुई है, उसमें बशीर बद्र का नुमाया हिस्सा है। जो जिन्दगी...

  • Book Name: Ujale Apni Yadon Ke
  • Author Name: Vijay Vate
  • Product Type: Book
  • ISBN: 9789352291748
Categories:
ISBN: 9789352291748
Language: Hindi
Publisher: Vani Prakashan
No. of Pages: 116
हिन्दोस्तान की दूसरी जुबानों में गजल के लिये जो इज्जत और मोहब्बत पैदा हुई है, उसमें बशीर बद्र का नुमाया हिस्सा है। जो जिन्दगी के तफक्कुर (समस्याओं) को तग़ज्जुल बनाते हैं। उनका कमाल ये है कि वो अछ्छी शायरी कर के भीमकबूल (लोकिप्रिय) हुए हैं। मेरे नजदीक इस वक्त हिन्दुस्तान में और हिन्दुस्तान से बाहर उर्द गजल की आबरू बशीर बद्र है ।डॉ. खलीक अंजुम, दिल्ली बशीर बद्र की गजल, जिन्दगी की धूप और एहसास के फूलों की गजल है, यही उनकी शायरी की बुनियादी मिजाज है। बशीर बद्र ने गजल को जो महबूबियत, विकार (गरिमा), एतबार और वज़ाहत (सौंदर्य) दी है, वो बेमिसाल है। वशीर बद्र से पहले किसी की गजल को ये मेहबूबियत नहीं मिली। मीरो-गालिब के शेर बहुत मशहूर हैं, लेकिन मैं पूरे एतमाद (विश्वास) से कह सकता हूँ कि आलमी पैमाने पर बशीर बद्र की गजलों के अशआर से, किसी के शेर मशहूर नहीं हैं, उसकी वजह यह है कि उन्होंने आज के इन्सान के नफ्सियाति (मनोवैज्ञानिक) मिजाज की तर्जमानी जिस आलमी उर्दू के गजलिया उस्लूब (शैली) में की है, वो इससे पहले मुमकिन भी नहीं थी। इस एतराफ (स्वीकृति) में बुखल (संकोच) से काम नहीं लेना चहिये कि वो, इस वक्त दुनियाँ में गजल के सबसे महबूब शायर हैं।
translation missing: en.general.search.loading