Shoping Cart

Your cart is empty now.

9788170556824.jpg
Rs. 250.00
SKU: 9788170556824

ISBN: 9788170556824
Language: Hindi
Publisher: Vani Prakashan
No. of Pages: 118
बंग महिला (राजेन्द्र बाला घोष) हिन्दी-नवजागरण की पहली छापामार लेखिका थीं। उन्होंने अपने आक्रामक लेखन द्वारा पुरुष-सत्तात्मक समाज की चूलें ढीली कर दीं।...

  • Book Name: Bang Mahila Nari Mukti Ka Sangharsh
  • Author Name: Bhavdev Panday
  • Product Type: Book
  • ISBN: 9788170556824
Categories:
ISBN: 9788170556824
Language: Hindi
Publisher: Vani Prakashan
No. of Pages: 118
बंग महिला (राजेन्द्र बाला घोष) हिन्दी-नवजागरण की पहली छापामार लेखिका थीं। उन्होंने अपने आक्रामक लेखन द्वारा पुरुष-सत्तात्मक समाज की चूलें ढीली कर दीं। वे छद्माचार्यों द्वारा आरोपित चारित्रिक लांछनों से न टूटीं और न घबराईं बल्कि नये तेवर के साथ नारी-मुक्ति की लड़ाई जारी रखी। नतीजतन स्त्री-स्वतन्त्रता की बहाली के लिए उनका लेखकीय अभियान फेमिनिस्ट आन्दोलन का प्रथम अध्याय साबित हुआ।
translation missing: en.general.search.loading