Shoping Cart

Your cart is empty now.

9788181433145.jpg
Rs. 125.00
SKU: 9788181433145

ISBN: 9788181433145
Language: Hindi
Publisher: Vani Prakashan
No. of Pages: 104
यह नाटक सामाजिक परिवर्तन की दिशा में काम करता है लगभग 40 साल पहले लिखे गए इस नाटक की प्रासंगिकता आज भी बरकरार बनी...

Categories:
ISBN: 9788181433145
Language: Hindi
Publisher: Vani Prakashan
No. of Pages: 104
यह नाटक सामाजिक परिवर्तन की दिशा में काम करता है लगभग 40 साल पहले लिखे गए इस नाटक की प्रासंगिकता आज भी बरकरार बनी हुई हैयह नाटक सोचने पर मजबूर करता है की सामाजिक परिवर्तन की जो दिशा हमने पकड़ी है क्या वह सही है या फिर मात्र एक भटकाव है।
translation missing: en.general.search.loading